बोले तो, अम्मा का आत्मा मेरे अंदर बैठा-शशिकला


ओ. पन्नीरसेल्वम की चुनौती ने शशिकला के लिए मुश्किलें ज़रूर खड़ी कर दी थीं, मगर उन्हें लगता है कि जयललिता के साथ रहने से मिले राजनीतिक अनुभव के बल पर वे अपनी नैया पार लगा लेंगीं। उन्हें लगता है कि पन्नीरसेल्वम और पार्टी में नंबर 2 मधुसूदनन को भी वे लगे हाथ ठिकाने लगाकर अपना भविष्य सुरक्षित कर ही लेंगी। मगर जाहिर है कि जब तक शपथ नहीं हो जाती तब तक उनकी धड़कनें कम नहीं होने वालीं। फिर उन्हें ये भय भी सता रहा है कि इधर उन्होंने मुख्यमंत्री का ताज सिर पर रखा और उधर सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें दोषी ठहरा दिया तो क्या होगा? तब तो बाज़ी उनके हाथ से निकल ही जाएगी। लेकिन इस मामले में भी जयललिता से मिले अनुभव के सहारे ही वे संकट से निकलने के बारे में सोच रही हैं।

Amma-soul-sat-inside-me
शशिकला ने तमाम मीडिया वालों को कह रखा है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने तक किसी से बात नई करने का। मगर मैंने उनके पति नटराजन का साधा और ख़बर पहुँचाई कि मेरे पास पन्नीरसेल्वम के बारे में कुछ ऐसी जानकारी है जो उनके काम आ सकती है। मुझे सकारात्मक जवाब की उम्मीद थी और वह आया भी। उन्होंने मुझे फौरन पोएस गार्डन बुला लिया। आवास के अंदर ही बने उनके आफिस में घुसा तो वे पूजा कर रही थीं। सामने जयललिता की एक आदमकद मूर्ति रखी हुई थी, उसी की पूजा। उनके हाव-भाव से समझ गया कि ये पूजा मुझे दिखाने के लिए की जा रही है। ख़ैर मुझे तो एनकाउंटर से मतलब था लिहाज़ा उनकी पूजा के ख़त्म होने का इंतज़ार तो करना ही था। करीब आधे घंटे तक आरती करने, भजन गाने (भजन तमिल में था इसलिए बता पाना मुश्किल है कि उसमें क्या कहा जा रहा था, मगर हाँ, बार-बार अम्मा का नाम ज़रूर आ रहा था) के बाद वे मेरी तरफ मुखातिब हुईं और नमस्कारा कहा। मैंने भी नमस्कारा कहा और एनकाउंटर शुरू कर दिया।

शशिकला जी......
शशिकला नईं चिनम्मा बोलो चिनम्मा। जैसे जयललिता अम्मा, अम चिनम्मा।

आप पब्लिक के लिए चिनम्मा हो सकती हैं, मगर मीडिया के लिए तो शशिकला ही रहेंगी। ख़ैर इसे छोड़िए और ये बताइए कि क्या आपको कभी ये लगा था कि पन्नीरसेल्वम आपको इस तरह से चैलेंज करेंगे?
यस, अमको डाउट था। अम पैले से जानता कि ये जो पन्नीरसेल्वम है न वो हमेशा चांस पे डांस करता। अम्मा के टैम में उसका चांस नईं मिला तो वफ़ादारी दिखाया, मगर अमको वो वीक समझता इसलिए पीठ में छुरा भौंकने का प्लान बनाया। अमको बराबर डाउट था, इसलिए तुरंत काउंटर कर दिया। एमएलए को थोड़ा समझाया, थोड़ा धमकाया भी, थोड़ा लालच भी दिया, तब जाके सिचुएशन कंट्रोल में आया।

अभी कंहाँ कंट्रोल में आया? कहा जा रहा है कि वे किसी भी तरफ वोट कर सकता?
एक-दो लोग इधर-उधर हो सकता है, मगर सबको पता के पार्टी चलाना पन्नीरसेल्वम के बस का बात नईँ। वो अपनी फ्यूचर देखके फैसला लेगा न? आप देखना मेजोरिटी मेरे साथ में रहेगा।

लेकिन आप अचानक पॉवर पॉलिटिक्स में क्यों कूद पड़ीं? अगर आपको ही मुख्यमंत्री बनना था तो पहले ही कह देंती। पन्नीरसेल्वम का एंबीशन नहीं जागता?
पहले मुख्यमंत्री बनने को बोलता तो रांग मैसेज जाता। लोग बोलता मैं पॉवर हंगरी। इस वास्ते पहले एमएलए से डिमांड करवाना ज़रूरी। सब ठीक जा रहा था। ये पन्नीरसेल्वम भी कुछ करने का हिम्मत नई करता।  मगर अमको लगता कि ये मोदी और शाह उसको हवा भर दिया। उसको बोला तुम सरकार बनाओ, गवर्नर हमारा है, अम तुमको सपोर्ट करेगा। बस वो गेम करने लगा। तुमी बोलो अम्मा का समाधि पर बैठा और फिर मीडिया को बाइट देता कि अम उसको धमकाया अऊर इस्तीफा वापस लेने को भी रेडी। ये कैसे हुआ जी?

पन्नीरसेल्वम का कहना है कि उन्हें सपने में अम्मा ने कहा कि तुम ऐसा करो?
झूठ, सफ़ेद झूठ। अम्मा उसके सपने में कैसे आएँगा जी। वो केवल मेरे सपने में आता। केवल मुझको इंसट्रक्शन देता। बाक़ी कोई क्लेम करता तो झूठ बोलता। अम्मा अमको प्रॉमिस करके गया। बोला अम तुम्हारे साथ शशि....तुमी पार्टी को सँभालो नई तो ये लोग सब तोड़-फोड़ देगा।

आपको मोदी-शाह पर क्यों शक़ है?
क्यों शक़ है? अरे बाबा तुमको दिखता नई क्या? अब गवर्नर को देखो, दिल्ली-मुंबई में बैठा था, चेन्नई आने को ही नईं मांगता था। जब ओपेनली चैलेंज किया और दिखा दिया कि 130 एमएलए अमारा साथ, तब झख मारकर आया। और स्टेट बीजेपी को देखो कैसे पन्नीरसेल्वम का माला जपता। हम अच्छे से जानता....बीजेपी कांसपिरेसी करता....वो हमेशा यही किया। मगर कभी कामयाब नई हुआ और इस बार भी नईं होगा।

लेकिन मोदीजी ने तो आपके सिर पर भी हाथ रखा था?
इसीलिए तो हम तुरंत समझ गया न। पहले अमको पटाकर तमिलनाडु में घुसना चाहता था, मगर मैं तो अम्मा से सीखा, ऐसे लोगों का भरोसा नको करो। इसलिए अम उसको घास नईं डाला। तब उसने पन्नीरसेल्वम को लालच दिया। लेकिन क्या हुआ? वो धोबी का कुत्ता माफ़िक हो गया, न घर का न घाट का। वो इधर में रहता तो मंत्री बनता.....मैं उसको डिपुटी सीएम भी बना सकता था, मगर उसका दिमाग़ खराब कर दिया बीजेपी ने।

लेकिन आपके लिए संकट बहुत बड़ा है शशिकला जी। आप निकल पाएंगी इससे?
बिल्कुल। एक्चुली में क्या है.....अभी अम्मा का आत्मा मेरे अंदर बैठा। यू नो, वोई अमारा फ्रेंड, फिलॉस्फर, गाइड सब कुछ। वो हमको जैसा बोलेगा हम करेगा एँड आई एम वेरी मच होपफुल दैट आई विल सक्सीड। अम्मा का आत्मा हमको वो सारा तरीका बता दिया है जिससे तमिलनाडु में पॉवर को वो कंट्रोल करता था।

लेकिन ये आसान नहीं होगा?
इज़ी तो पॉलिटिक्स में कभी भी कुछ भी नईं होता जी। जब एम जी रामचंद्रन का डेथ हुआ, तबी अम्मा को कितना स्ट्रगल करना पड़ा। उसका वाइफ जानकी रामचंद्रन क्लेम करने को आ गया। मगर अम्मा ब्रेव लेडी। सबको ठीक कर दिया और फिर पार्टी पर कंपलीट कंट्रोल भी कर लिया। सेम सिचुएशन अबी हम फेस करता। अभी अमको भी पन्नीरसेल्वम एंड कंपनी को ठीक करने का। अम्मा का भतीजी भी पता नहीं किधर से आकर क्लेम करने लगा कि पार्टी पर उसका राइट बनता। मगर जबी अम्मा जेल में था और जबी बीमार था तबी वो कहाँ था? लेकिन उसका कोई बेस नईं, आई विल इजीली हैंडल हर।

देखिए पब्लिक में भी आपका विरोध हो रहा है। पब्लिक को ये पसंद नईं आ रहा है कि आप अम्मा का जगह लें?
ये सब आर्गेनाइज्ड है, स्पॉंसर्ड है। पॉलिटिकल पार्टी इसको हवा देता। डीएमके पन्नीरसेल्वम को सपोर्ट करता। बीजेपी के बारा में अम पहेले ही बोला। इसके अलावा कुछ पॉवर हंगरी फिल्म स्टार भी कोशिश करता। सब हमको हटाकर खुद कुर्सी पर बैठने को सोचता। मगर अम ऐसा होने नईं देगा।

लेकिन ये तो अनडेमोक्रेटिक है न कि आप एमएलए को ले जाकर किसी रिजॉर्ट में बंद कर दें?
और जो लोग उनको खरीदने का कोशिश करता वो डेमोक्रेटिक है क्या? जो लोग अमारा पार्टी को ब्रेक करने का कोशिश करता, वो डेमोक्रेटिक क्या? इस सिचुएशन में तो सब पार्टी ऐसा करता। मोदी भी किया, अमित शाह भी किया और कांग्रेस भी किया। इसलिए अमको भर मत बोलो।

लेकिन आपने तो कभी चुनाव नहीं लड़ा, बस जयललिता के साथ रही हैं?
ऐसा अम तुमी को हजार नाम दे सकता जो इलेक्शन नईं लड़ा मगर पॉलिटिक्स मे आया और अच्छा काम किया। अम्मा भी किया। मैं तो अम्मा का फुटमार्क पर चलता। उसका आत्मा जो करने को बोलता अमी करता। अम्मा इसी तरह पॉलिटिक्स में आया तो मैं भी आया......वो करप्शन के चार्ज में जेल गया तो अमी भी गया। अभी उसी के माफ़िक सरकार भी चलाएगा। अम अम्मा का अवतार जी।

उसी के माफ़िक मतलब?
मतलब, जैसा वो चलाता था अमी भी चलाएगा। टीवी, साड़ी, बर्तन सब बाँटेगा। औरत लोगों को आगे लाएगा।

लेकिन लोगों को डर सता रहा है कि मन्नारगुडा माफिया का राज हो जाएगा?
ये तो हमारा दुश्मन लोग फैलाता। इधर में कोई माफिया नईं है। यस माय हसबैंड एंड माय फेमिली विल हेल्प मी लेकिन वो सरकार में इंटरफियर नईं करेगा।

नेशनल पॉलिटिक्स में आप किसके साथ जाएंगी?
अम अम्मा का प़ॉलिसी को फालो करेगा। जिससे भी पार्टी और स्टेट का इंटरेस्ट फुलफिल होगा उसी का सपोर्ट करेगा और उसी से लेगा।

अगर कोर्ट ने आपको दोषी ठहरा दिया तब क्या करेंगी? तब तो आपको जेल में जाना होगा। 
हम जेल जाएगा, लेकिन बाहर आने तक किसी पन्नीरसेल्वम को बोले तो अपना वफ़ादार को गद्दी सौंपेगा। बाहर आकर फिर से कुर्सी संभाल लेगा। लेकिन अभी तो अमी को गवर्नर के कॉल का वेट। पता नहीं क्या करेगा वो। लेकिन उसको मालुम होना चाहिए कि अगर बीजेपी का गेम खेलेगा तो पूरा तमिलनाडु में आग लग जाएगा।

एनकाउंटर ख़त्म हो गया था इसलिए मैंने नमस्कार किया और चलने लगा तो शशिकला फौरन बोल पड़ीं-वो तुमी नटराजन को बोला कि तुम्हारे पास पन्नीरसेल्वम का कोई न्यूज़? 
एक पल के लिए मैं घबरा गया क्योंकि मेरे पास कोई जानकारी तो थी नहीं, एनकाउंटर करने के लिए चारा डालने की गरज़ से कह दिया था। ख़ैर अब बात को सँभालनी थी इसलिए मैंने कह दिया-वो पन्नीरसेल्वम बीजेपी ज्वायन करने का तैयारी कर रहा है।

शशिकला ने लंबी साँस भरी और बोली-ओह तो बात इधर तक पहुँच गया। कोई बात नहीं अम पन्नीर का पकौड़ा भी बनाएगा और बीजेपी का रसम भी।

इसके पहले कि शशिकला और कुछ पूछती, मैंने खिसक लेने में ही बेहतरी समझी।

वैधानिक चेतावनी - ये व्यंग्यात्मक शैली में लिखा गया काल्पनिक इंटरव्यू है। कृपया इसे इसी नज़रिए से पढ़ें।


Tags
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment