सास-बहू की टक्कर में उलझे चैनल


टीआरपी की रेस चालू है.. हर हफ्ते की तरह इस हफ्ते भी आंकडे आ गए है और इनमें कोई ज्यादा बदलाव नहीं है.. करीब डेढ साल से टीआरपी के आंकडे लगभग स्थिर हो गए है नंवर वन की कुर्सी पर आजतक और नंबर टू की कुर्सी पर इंडिया टीवी मानो चिपक गए है..

एक दो हफ्ते के लिए बदलाव आता है लेकिन कुछ ही दिनों में हालात फिर सामान्य हो जाते है ..किसी हफ्ते में दो चार प्रोग्रामों की बदौलत न्यूज चैनलों की रेंटिग में बदलाव नजर आता है लेकिन ये ज्यादा समय तक टिक नहीं पाता..चाहे दर्शकों तक पहुंच(रीच) बढाकर या फिर दर्शकों को ज्यादा वक्त तक बांधे रखकर(टाइम स्पेंड) चैनलवाले अपना उल्लू सीधा कर लेते है..टीआरपी बढाने के लिए पैसों की जरुरत होती है और छोटे नेटवर्क के लिए केबलवालों को ज्यादा पैसा देना आसान नहीं है.. हांलाकि कोई चैनल दि चाहे तो पैसा खर्च कर कम से कम अपनी रीच को नंबर वन चैनल तक पहुंचा सकता है.. लेकिन सवाल उठता है कि सिर्फ रीच से काम नहीं चलता.. चैनलों को कंटेट पर भी ध्यान देना जरुरी है..जैसे इस हफ्ते की टीआरपी पर नजर डालें तो न्यूज 24 की टीआरपी 7 प्रतिशत तक पहुंच गई है ..जबकि उसकी रीच नहीं बढी है मतलब साफ है कि चैनल ने अपने कंटेंन्ट को टीआरपी केन्द्रीत कर प्रस्तुत किया और उसे इसका लाभ हुआ..

एक बात और है समय के साथ दर्शको की रुचि में भी बदलाव आता है कभी जो दर्शक एक चीज को पसंद करता है अगले हफ्ते उसे ही खारिज कर देता है इसलिए ये मापना तो बहुत मुश्किल है कि कौन सी खबर चलेगी और कौन सी नहीं.. लेकिन यदि सिर्फ एक हफ्ते के ट्रेंड को फोलो कर लिया जाए तो अगले हफ्ते चैनल फायदे में आ सकता है..जैसे रात नौ बजे के बैंड को ही लें ..प्राइम टाइम का ये सबसे महत्वपूर्ण बैंड है और पिछले कुछ अर्से से इसमें अजीब सी खबरों को ताना जा रहा था और वो टीआरपी दे रही थी लगता था न्यूज इस बैंड में नुकसान पहुंचाएगी..न्यूज ने नुकसान पहुंचाया भी लेकिन जी न्यूज और आईबीएन सेवन जैसे चैनल इस पर टिके रहे और असर ये हुआ कि आप इस हफ्ते के आंकडे देख लिजीए जी न्यूज रात नौ बजे के बैंड में नंबर वन की पोजिशन में है.. इसने आजतक और स्टार न्यूज को ही नहीं ..इंडिया टीवी को भी धूल चटा दी है .. हांलाकि जरुरी नहीं कि ये ट्रेंड अगले हफ्ते भी बरकरार रहे लेकिन झकमारकर अब ये चैनल भी इस बैंड में ज्यादा खबरें चलाने के बारे में सोचने लगे है..

इस हफ्ते टीआरपी आंकडो में एक और बडी खबर छिपी है.. दोपहर ढाई बजे के बैंड में स्टार न्यूज के सबसे लोकप्रिय कार्यक्रम सास बहू और साजिश को आजतक के सास बहू और बेटियों ने कडी टक्कर दी है.. ये शायद पहला मौका है जब स्टार के इस कार्यक्रम के बिल्कुल करीब आजतक पहुंच गया है.. यदि स्टार का ये बैंड उसके हाथ से निकलकर आजतक के पास चला गया .. तो स्टार को लंबे समय तक इसका खामियाजा भुगतना पड सकता है.. क्योकि स्टार के नंबर दो और तीन पर टिके रहने में इस बैंड की सबसे ज्यादा भूमिका रही है..
Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment