किसकी लाठी, किसके लठैत?

मीडिया अब पेशेवर लठैत बन गया है। वह सूचना देने, शिक्षित करने या मनोरंजन प्रदान करने के बजाय लट्ठ चलाता है। बल्कि ये कहना चाहिए कि सूचनाए...
Read More

मोदी की नोटबंदी न देशहित में है, न जनहित में-नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री इस समय बहुत उलझे-उलझे से रहते हैं। कारणों का ठीक से पता किसी को नहीं है, मगर उनके अफसर बताते हैं कि सुशासन बाबू ने ...
Read More