सरकार और अलगाववादियों को एक्सपोज क्यों नहीं करते मीडिया और बुद्धिजीवी?

कश्मीर में कर्फ्यू लगे 70 दिन हो गए। अब तक 85 लोग मारे जा चुके हैं। लेकिन हमें नहीं मालूम कि वहा...
Read More

मेरा मुँह न खुलवाएं, एक-एक आदमी नंगा हो जाएगा-अमर सिंह

अमर सिंह के सितारे नोट फॉर वोट कांड के बाद से गर्दिश में है। पहले तिहाड़ की हवा खाई, फिर सेहत ने...
Read More

क्या अरुणाचल में हुए एकमुश्त फेरबदल के पीछे केंद्र सरकार का हाथ है?

अरुणाचल प्रदेश की हालिया घटनाओं ने साबित कर दिया है कि सचमुच राजनीति में कुछ भी संभव है। साम नही...
Read More

मेहबूबा सरकार अब कितने दिनों की मेहमान है?

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती के लिए इससे बुरा वक़्त कुछ भी नहीं हो सकता। बुरहान व...
Read More

राहुल की खाट सभाओं में लोग दिलचस्पी तो दिखा रहे हैं मगर वोट देंगे क्या?

पहली खाट सभा में जब खाटों की लूट हुई थी तो राहुल गाँधी का अभियान मज़ाक का विषय बन गया था। न केवल...
Read More

परिवार और सरकार की लड़ाई नहीं ये सत्ता का अश्लील संघर्ष है

समाजवादी पार्टी और उसकी सरकार में मचे कोहराम के बहुतेरे अर्थ निकाले जा रहे हैं। कोई इसे चाचा-भती...
Read More

लालू और आरजेडी के लिए नीतीश कुमार से ज्यादा शहाबुद्दीन महत्वपूर्ण क्यों हैं?

यदि नीतीश सरकार सरकार शहाबुद्दीन की ज़मानत के खिलाफ़ सुप्रीम कोर्ट मे जाती है तो वह काफी हद तक उस...
Read More

काँग्रेस अब खाट-दर्शन पर चलेगी और उसका चुनाव चिन्ह होगा खटिया-ग़ुलाम नबी

काँग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनाव के प्रभारी ग़ुलाम नबी आज़ाद उस समय राहु...
Read More

दलित आंदोलन : नेतृत्व और दिशा की तलाश

केंद्र में 2014 में भाजपा की सरकार आने के बाद से कट्टर ब्राह्मणवादी ताकतों की जिस तरह से गतिविधि...
Read More

लोकतंत्र बना रहेगा, लेकिन इस तरह दबे पाँव आएगा फासीवाद

प्रकाश कारात का 6 सितम्बर 2016 के ´इण्डियन एक्सप्रेस´ में छपा  लेख विवादों के केन्द्र में है। इस ...
Read More